देश

TRP मामले में BARC ने रिपब्लिक मीडिया के दावे को बताया गलत, बोले इस मामले में नहीं दिया कोई बयान

पिछले दिनों मुंबई पुलिस के एसपी परमबीर सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान टीआरपी स्कैम में रिपब्लिक भारत समेत कई न्यूज़ चैनल्स के नाम लिए थे। रिपब्लिक भारत ने शुरुआत से ही इस आरोप को झूठा बताया। उन्होंने एफआईआर की कॉपी जनता के सामने रखते हुए बताया कि एफआईआर में कहीं भी रिपब्लिक मीडिया का नाम नहीं है। इसके बाद रिपब्लिक भारत ने अपने चैनल पर इस घोटाले को लेकर एक कार्यक्रम भी प्रसारित किया। कार्यक्रम के दौरान रिपब्लिक मीडिया के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी ने दावा किया कि BARC ने रिपब्लिक मीडिया को एक ईमेल भेजा है। जिस ईमेल में उन्होंने इस घोटाले में रिपब्लिक मीडिया का नाम ना होने की बात कही है। इस कार्यक्रम के बाद कई सवाल उठ रहे थे। अब BARC ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए अर्णब गोस्वामी की इस बात को गलत ठहराया है।

जांच को लेकर कोई बयान नहीं दिया

View this post on Instagram

Happy 74th independence day to all 🇮🇳🇮🇳

A post shared by Arnab Goswami (@arnab_goswami_republictv) on

हाल ही में BARC ने रिपब्लिक मीडिया के दावों को गलत बताते हुए बयान दिया कि, BARC की तरफ से टीआरपी घोटाले की जांच को लेकर कोई भी बयान जारी नहीं किया गया है। वे केवल अभी जरूरी जानकारियां जांच एजेंसियों को दे रहे हैं। BARC के अधिकारियों का कहना है कि रिपब्लिक टीवी ने गलत तरीके से गोपनीय जानकारियों को पब्लिक के सामने रखा है। इस बात से BARC रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क से नाराज है। होने दुख हुआ है कि पब्लिक मीडिया ने इस तरह से गोपनीय चीजों को अपने चैनल पर प्रसारित किया। जबकि उनकी तरफ से अभी तक जांच को लेकर कोई बयान नहीं दिया गया था।

रिपब्लिक मीडिया के खिलाफ नहीं है सबूत

अर्णब गोस्वामी ने अपने चैनल पर प्रसारित एक शो के दौरान यह कहा था कि BARC ने उन्हें एक ईमेल भेज कर टीआरपी स्कैम में उनका नाम ना होने की बात कही है। अर्णब गोस्वामी ने कहा कि BARC ने उनसे कहा है की रिपब्लिक मीडिया के खिलाफ कोई सबूत नहीं है। अगर उनके खिलाफ कोई सबूत होता तो पहले ही चैनल से पूछताछ की जाती या फिर कागजात मांग लिए जाते। हालांकि उनके खिलाफ कुछ नहीं मिला है जिसकी वजह से कोई कार्यवाही नहीं हुई। इसी बात के साथ अर्णब गोस्वामी ने परमबीर सिंह को सस्पेंड करने और उनसे माफी मंगवाने की भी मांग की है। अर्णब गोस्वामी ने इससे पहले भी कई बार परमबीर सिंह पर निशाना साधा है। 

मुंबई हाईकोर्ट ने दिया समन करने का आदेश

टीआरपी घोटाला मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने मुंबई पुलिस से कहा है कि अगर अर्णब गोस्वामी इस रैकेट में आरोपी हैं तो पुलिस उन्हें समन जारी करे। अर्णब गोस्वामी लगातार इस मामले में खुद को बेकसूर बता रहे हैं और मानहानि का मुकदमा करने की बात कर रहे हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए कोर्ट ने आदेश दिए हैं कि अगर रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क दोषी है तो उनसे समन भेजकर सीधे पूछताछ की जाए। इसके चलते पुलिस टीआरपी रैकेट मामले में अब जल्द उन्हें पूछताछ के लिए समन कर सकती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top